English
Download App from store
author
Chandra Shekhar Azad
I enjoy reading and writing. My favorite genres are Inspiration, Romance, Social Commentary. I have been a part of the Kahaniya community since December 10, 2021.
episodes
1
किस्सा तीसरे बूढ़े का जिसके साथ एक खच्चर था-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
2
गरीक बादशाह और हकीम दूबाँ की कथा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
3
अमात्य की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
4
किस्सा तीन राजकुमारों और पाँच सुंदरियों का-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
5
भले आदमी और ईर्ष्यालु पुरुष की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
6
किस्सा जुबैदा का-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
7
सिंदबाज जहाजी की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
8
सिंदबाद जहाजी की पहली यात्रा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
9
सिंदबाद जहाजी की दूसरी यात्रा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
10
सिंदबाद जहाजी की तीसरी यात्रा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
11
सिंदबाद जहाजी की चौथी यात्रा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
12
सिंदबाद जहाजी की पाँचवी यात्रा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
13
सिंदबाद जहाजी की छठी यात्रा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
14
सिंदबाद जहाजी की सातवीं यात्रा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
15
एक स्त्री और तीन नौकरों का वृत्तांत-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
16
जवान और मृत स्त्री की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
17
काशगर के दरजी और बादशाह के कुबड़े सेवक की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
18
नूरुद्दीन अली और बदरुद्दीन हसन की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
19
ईसाई द्वारा सुनाई गई कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
20
अनाज के व्यापारी की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
21
उस आदमी की कहानी जिसके चारों अँगूठे कटे थे-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
22
यहूदी हकीम द्वारा वर्णित कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
23
काशगर के बादशाह के सामने दरजी की कथा-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
24
लँगड़े आदमी की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
25
दरजी की जबानी नाई की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
26
नाई के कुबड़े भाई की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
27
नाई के दूसरे भाई बकबारह की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
28
नाई के तीसरे भाई अंधे बूबक की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
29
नाई के चौथे भाई काने अलकूज की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
30
नाई के पाँचवें भाई अलनसचर की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
31
नाई के छठे भाई कबक की कहानी जिसके होंठ खरगोश की तरह के थे
bookmark-unselected
32
कमरुज्जमाँ और बदौरा की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
33
नूरुद्दीन और पारस देश की दासी की कहानी-अलिफ़ लैला
bookmark-unselected
author
Chandra Shekhar Azad
अलिफ लैला
कहानियां
46 views
0 reviews

अलिफ लैला कहानी

अलिफ लैला या आल्फ़ लैला दरअसल अरबी भाषा में लिखे गए हजार रात के किस्से से ली गई कहानियाँ हैं जो सैकड़ों सालों से सारी दुनियाँ में मशहूर हैं। यहाँ हम अपने पाठकों के लिए अलिफ लैला की कहानियों का ये संकलन ले कर आए हैं ताकि आप भी इन्हें पढ़ें और आनंद उठाएँ। अलिपफ लैला की कहानी अरब देश की एक प्रचलित लोक कथा है जो पूरी दुनिया में सदियों से सुनी व पढ़ी जाती रही है। यह हज़ार कहानियों का एक खूबसूरत गुलदस्ता है, जिसमें प्रत्येक कहानियां एक पफूल की तरह है। इन कहानियों में प्यार, सुख, दुःख, दर्द, धेखा, बेवपफाई, ईमानदारी, कर्तव्य, भावनाएं जैसे भावों का अद्भुत संतुलन है, जिसको पाठकों और श्रोताओं को हमेशा लुभाया है। इस कथा के अनुसार, बादशाह शहरयार अपनी मलिका की बेवपफाई से दुःखी होकर उसका और उसकी सभी दासियों का कत्ल कर देता है और प्रतिज्ञा करता है कि रोजाना एक स्त्री के साथ विवाह करूंगा और अगली सुबह उसे कत्ल कर दूंगा। बादशाह के नफऱत से उत्पन्न नारी जाति के प्रति इस अत्याचार को रोकने के लिए बादशाह के वजीर की पुत्री शहरजाद उससे शादी कर लेती है। वह किस्से-कहानी सुनने के शौकीन बादशाह को विविध् प्रकार की कहानियां सुनाती है, जो हज़ार रातों में पूरी होती है। कहानी पूरी सुनने की लालसा में बादशाह अपनी दुल्हन का कत्ल नहीं कर पाता और उसे अपनी बेगम से प्यार हो जाता है। अपनी बेगम की बुद्धिमिता से प्रभावित बादशाह औरतों के प्रति अपने मन में उत्पन्न नफऱत को खत्म करने के अलावा अपनी प्रतिज्ञा भी तोड़ देता है और अंत में अपनी बेगम के साथ हंसी-खुशी रहने लगता है।

© All rights reserved
Reviews (0)